अखबार में

उद्यमियों से तय होगा नए भारत का भविष्य

बजट 2017 कई मायने में बड़ा अलग सा रहा है। वित्त मंत्री अरुण जेटली के पूरे बजट भाषण को देखने पर ज्यादातर समय ये नॉन इवेंट जैसा ही दिखता रहा। क्योंकि, पूरे बजट में कोई भी ऐसा एलान नहीं हुआ। जो किसी खास वर्ग को अलग से कुछ देने की Read more…

By Harsh, ago
राजनीति

सड़क, रेल, घर, कपड़ा और आसान कर्ज से मिलेगा रोजगार

इस सरकार की सबसे बड़ी आलोचना इस बात को लेकर होती है कि नई नौकरियां, नए मौके बनते नहीं दिखे या फिर उम्मीद से कम दिखे। इसी बात को बजट पेश होने के ठीक एक दिन पहले कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने भी कहा। राहुंल गांधी ने नौकरियों के मामले Read more…

By Harsh, ago