बतंगड़ ब्लॉग

गुजरात चुनाव जीतने के बाद भाजपा के लिए 3 जरूरी सबक

भारतीय जनता पार्टी की गुजरात में सरकार फिर से बन गई है। 5 साल के लिए अब बीजेपी चैन से रह सकती है। लेकिन, 27 साल की बीजेपी सरकार के बाद जब चुनाव होंगे तो, उस समय के लिए तैयार अभी से करना होगा। 3 जरूरी सबक याद रखेंगे तो, Read more…

By Harsh, ago
बतंगड़ ब्लॉग

ज्यादा वोट के बावजूद बीजेपी की सीटें कम होने की पहेली सुलझ गई

टीवी चैनलों पर काफी समय तक ऐसा लगा कि मुख्यमंत्री विजय रूपानी अपनी विधानसभा में पिछड़ रहे हैं। लेकिन, जब परिणाम आए तो, राजकोट पश्चिम से बीजेपी प्रत्याशी मुख्यमंत्री विजय रूपानी को 131586 मत मिले और कांग्रेस प्रत्याशी इंद्रनील राजगुरू को मिले 77831 मत। नरेंद्र मोदी और अमित शाह के Read more…

By Harsh, ago
बतंगड़ ब्लॉग

गुजरात चुनावों पर यह वीडियो सिर्फ पत्रकारों के लिए है !

गुजरात और हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव के नतीजे भी आ गए। पत्रकारों की छोड़िए, चुनाव विश्लेषण के नाम पर ही अपनी ब्रांडिंग करने वाले योगेंद्र यादव पूरी तरह से गलत साबित हुए। सेलिब्रिटी टाइप के पत्रकारों, चुनाव विश्लेषकों और बुद्धिजीवियों के साथ नए पत्रकारों के लिए आगे चुनावी समय में Read more…

By Harsh, ago
राजनीति

देखिए कितने तरह के भ्रम टूट रहे हैं

देखिए कितने तरह के भ्रम टूट रहे हैं। @BJP4India को रुढिवादी पिछड़ी सोच की पार्टी के तौर पर स्थापित किया गया। राजीव गांधी के कम्प्यूटर का विरोध उस समय बीजेपी ने किया था, इसे सबसे पक्के आधार के तौर पर इस्तेमाल किया जाता रहा। बीजेपी समय के साथ चलती रही। Read more…

By Harsh, ago
राजनीति

रज्जू भइया, जोशी,सिंघल के घर में फिर ताकतवर होती भाजपा

चौथे चरण का मतदान कई तरह से खास रहा है। चौथे चरण में इलाहाबाद जिले में भी मतदान हुआ, जो पूर्वांचल का प्रवेश द्वार भी कहा जाता है। इलाहाबाद कांग्रेस की पैदाइश वाली जमीन है और यही वो जमीन है, जहां राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के पूर्व सरसंघचालक प्रोफेसर राजेंद्र सिंह Read more…

By Harsh, ago
राजनीति

इलाहाबादी प्रदेश अध्यक्ष की टीम से इलाहाबाद गायब

उत्तर प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी का प्रदेश अध्यक्ष घोषित होने के तीन महीने से ज्यादा समय के बाद भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश पदाधिकारियों का एलान हो गया। तीन दिन में घोषित होने वाली टीम को बनने में तीन महीने लग गए। आठ अप्रैल को केशव प्रसाद मौर्या प्रदेश Read more…

By Harsh, ago
राजनीति

राज्य में नेता की कमी बीजेपी की सबसे बड़ी मुश्किल

ये नरेंद्र मोदी का प्रभाव है या कहें कि उनके प्रभाव का विरोधियों में डर है कि हर चुनाव के बाद ये चर्चा होने लगती है कि मोदी का प्रभाव घटा या नहीं। इससे भी आगे बढ़कर विरोधी कहते हैं कि नरेंद्र मोदी की लहर खत्म हो गई है। और Read more…

By Harsh, ago
राजनीति

लोकतंत्र की जीत के लिए!

लोकतंत्र में हार जीत होती रहती है। इसलिए दिल्ली कौन जीतेगा का जवाब है- कोई भी जीत सकता है। ये भी ठीक है कि सत्ता का नशा ऐसा होता है कि उसमें अहंकार बढ़ना पक्का है। ये भी ठीक है कि अहंकार बढ़ने से तानाशाही आ जाती है। इसलिए भाजपा Read more…

By Harsh, ago
राजनीति

ढेर सारी जीतों को पिरोकर नरेंद्र मोदी ने भारत जीता है

नरेंद्र मोदी की इस जीत ने ढेर सारे प्रतिमान बनाए हैं, ध्वस्त किए हैं। और ये सिर्फ नरेंद्र मोदी ही कर सकते थे। सब चौंक रहे हैं, चिंहुक रहे हैं। मुझे भी उत्तर प्रदेश में 50 सीटें और पूरे देश में बीजेपी को 240 सीटों से ज्यादा मिलने का अंदाजा Read more…

By Harsh, ago
राजनीति

संत चरित्र या कारोबारी चरित्र

साल 2013 के पहले महीने यानी जनवरी के आखिर में लंबी कसरत के बाद भारतीय जनता पार्टी ने जब राष्ट्रीय अध्यक्ष के पद पर नितिन गडकरी की दोबारा ताजपोशी नहीं होने दी तो, अलग-अलग कयास लगाए गए। कोई लालकृष्ण आडवाणी के अड़ जाने की खबर ला रहा था तो कोई Read more…

By Harsh, ago