बतंगड़ ब्लॉग

बिना स्क्रिप्ट, निर्देशक, निर्माता के काम मुश्किल होता है हासन साहब !

कमल हासन को हिन्दू आतंकवाद दिखने लगा, तो माना जा सकता है कि वे अब राजनीति के लिए पूरी तरह से तैयार हो गए हैं। तमिलनाडु जैसे राज्य में जहां भ्रष्टाचार के खिलाफ राजनीतिक संघर्ष की बड़ी गुन्जाइश थी। जहां AIADMK, DMK के सामने नई साफ सुथरी जमीन तैयार करने Read more…

By Harsh, ago
बतंगड़ ब्लॉग

भारत में कारोबार करना आसान होने के मायने

विश्व बैंक की ताजा रिपोर्ट भारत सरकार का उत्साह बढ़ाने वाली है। विश्व बैंक की यह ताजा रिपोर्ट बता रही है कि 2014 से 2017 के दौरान भारत में कारोबार करना बेहद आसान हो गया है। समझिए कि Doing Business Report 2018 के क्या मायने हैं।

By Harsh, ago
बतंगड़ ब्लॉग

आधार अनिवार्य न हुआ, तो बेकार

आधार को लेकर पहले सरकारें भी भ्रम में रहीं और अब भी समझ नहीं आ रहा है कि यह एक और पहचान पत्र की तरह काम करेगा या फिर भारत के हर नागरिक की आधार एक पक्की पहचान होगा। मेरा स्पष्ट मानना है कि अगर आधार को अनिवार्य नहीं किया Read more…

By Harsh, ago
बतंगड़ ब्लॉग

प्राइवेसी के बहाने आधार का विरोध क्यों ?

आधार का विरोध करने वाले ज्यादातर लोग इसके पीछे निजता पर सरकार की निगरानी का सबसे मजबूत तर्क देते हैं। ऐसे लोग इस बात से चिन्तित नहीं दिखते कि निजी कम्पनियों के पास उनकी हर तरह की जानकारी है। लेकिन, देश के हर नागरिक की एक पक्की पहचान सरकार के Read more…

By Harsh, ago
बतंगड़ ब्लॉग

राहुल गांधी का कुकुर हास्य

सवाल खड़ा हुआ कि राहुल गांधी को सोशल मीडिया पर इतने लोग अचानक कैसे फॉलो करने लगे। आरोप लगने लगे कि फर्जी फॉलोवर हैं, तो उसका जवाब राहुल ने एक कुकुर ट्वीट करके दिया है।

By Harsh, ago
अखबार में

पत्रकारों से दीपावली मंगल मिलन में मोदी का राहुल गांधी पर बड़ा हमला

इस बात की चर्चा जब भी होती है कि कांग्रेस इस तरह से देश से क्यों गायब होती गई, तो उसमें ढेर सारी वजहों के ऊपर एक सबसे बड़ी वजह कोई भी बता देगा कि कांग्रेस में आंतरिक लोकतंत्र नहीं है। कांग्रेस एक परिवार की पार्टी बन गई, यही कांग्रेस Read more…

By Harsh, ago
बतंगड़ ब्लॉग

विजय रुपानी की गैर विवादित छवि का फायदा मिलेगा ?

गुजरात में सीधे तौर पर मुख्यमंत्री विजय रपानी भले ही हों। लेकिन, चुनाव पूरी तरह से नरेंद्र मोदी और अमित शाह के चेहरे पर ही है। हालांकि, भाजपा के लिए एक अच्छी बात यह भी है कि गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रुपानी की गैर विवादित छवि काम आ रही है।

By Harsh, ago
बतंगड़ ब्लॉग

पाटीदार इस बार सबसे कमजोर कड़ी हैं

कई दशक से गुजरात की राजनीति की दशा दिशा तय करने की स्थिति में सबसे मजबूत पाटीदार ही रहे हैं। ये वही पाटीदार हैं, जिन्होंने 1980 में आरक्षण विरोधी आंदोलन चलाया था और आज आरक्षण पाने के लिए आंदोलन कर रहे हैं। लेकिन, इन सबसे पाटीदारों में जबरदस्त विभाजन हुआ Read more…

By Harsh, ago
बतंगड़ ब्लॉग

गुजरात चुनाव – विकास बनाम जाति

गुजरात चुनाव के ऐलान के पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ढेर सारी विकास योजनाओं की शुरुआत करके अपने चुनावी अभियान की शुरुआत विकास से करने की कोशिश की है। और, कांग्रेस जिस तरह से जातीय नेताओं का समर्थन पाती दिख रही है, उससे पहले चरण में विकास बनाम जातीय सन्तुलन Read more…

By Harsh, ago
बतंगड़ ब्लॉग

आर्थिक बेहतरी के संकेत

भारत में उद्योगों की रफ्तार बेहतर हो रही है। ताजा आईआईपी के आंकड़े यह बात साफ कर रहे हैं। ताजा उद्योगों के उत्पादन में तरक्की की रफ्तार पिछले 9 महीने में सबसे ज्यादा है। अगस्त महीने में उद्योगों में उत्पादन बढ़ने की रफ्तार 4.3 प्रतिशत रही है। त्योहारों के पहले Read more…

By Harsh, ago