बतंगड़ ब्लॉग

लाई की पैकिंग में छिपा है किसान की किस्मत बदलने का मंत्र

बार-बार ये पूछा जाता है कि आखिर किसान को उसकी उपज की सही कीमत कैसे मिल सकती है। देश के प्रधानमंत्री से लेकर छोटा सा किसान तक इसी का जवाब खोजने में पूरी ताकत लगा रहा है। यहां तक कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने तो बाकायदा 5 साल में किसानों Read more…

By Harsh, ago
राजनीति

लाइव टीवी ने कराई गजेंद्र की आत्महत्या

राजस्थान के एक किसान की आत्महत्या ने भारतीय राजनीति की अब तक की सबसे बड़े गिरावट देश के सामने पेश की है। ये गिरावट सिर्फ चरित्रहीनता, बेईमानी, मौकापरस्ती तक सीमित नहीं है। राजस्थान के किसान गजेंद्र की आत्महत्या भारतीय लोकतंत्र में संवेदना के मर जाने का पुख्ता प्रमाण है। एक Read more…

By Harsh, ago
राजनीति

किसान विरोधी नरेंद्र मोदी!

#KisaanVirodhiNarendramodi इस समय ट्विटर ट्रेंड पर सबसे ऊपर चल रहे हैं। भावनात्मक तौर पर ऐसे नारे बड़े अच्छे लगते हैं। लेकिन, ये नारे जिसके लिए लगते हैं, उसके साथ कैसा अन्याय करते हैं, ये देश के गरीबों, महिलाओं और किसानों की हालत देखकर जाना जा सकता है। ये ट्विटर ट्रेंड Read more…

By Harsh, ago
राजनीति

अच्छा लगता है!

किसान कराहता ही अच्छा लगता है किसान कर्ज के तले दबा ही अच्छा लगता है किसान बर्बाद फसल दिखाता अच्छा लगता है किसान गंदा दिखता ही अच्छा लगता है किसान वोटबैंक बना अच्छा लगता है किसान गरीब ही अच्छा लगता है किसान फसल के भाव के लिए गिड़गिड़ाता ही अच्छा Read more…

By Harsh, ago
राजनीति

उगती फसलों के बीच घुटती आवाजें

(अंतराष्ट्रीय महिला दिवस (8 मार्च)पर महिला किसानों के हाल को बेहतर बनाने के लिए प्रतापजी ने एक ऐसा सुझाव दिया है जो, सही मायनों में महिला सशक्तिकरण, महिलाओं के बराबरी के हक की बात करता है। में ये पूरा लेख ही छाप रहा हूं) बिवाई फटे पैर हम निकालती हैं Read more…

By Harsh, ago
राजनीति

अब किसान कर्ज के बोझ से नहीं मरेंगे

किसान अब कर्ज के बोझ से आत्महत्या नहीं करेंगे। अब वो खेती के लिए पैसा न मिलने से आत्महत्या करेंगे। ये सुनने बहुत कड़वा लग रहा है। लेकिन, कड़वी सच्चाई यही है। आज के अखबारों में ये खबर है जो, कल से ही मुझे पता थी क्योंकि, मेरे चैनल पर Read more…

By Harsh, ago
राजनीति

किसानों की चिंता करने वाले पत्रकार का सम्मान

गांव, किसान और कर्ज की समस्या। ये बाते मीडिया में बमुश्किल ही जगह पाती हैं। ऐसे में किसी अखबार के संपादक का खुद इस तरह की रिपोर्टिंग करना और अपने रिपोर्टर्स को इस तरह की खबरें करने के लिए प्रेरित करना पत्रकारीय मानदंडों को बचाने में मदद करता है। बुंदेलखंड Read more…

By Harsh, ago
राजनीति

कोर्ट ने बताया कि अमिताभ किसान नहीं हैं!

उत्तर प्रदेश के फैजाबाद की जिला अदालत ने एक बहुत बड़ा काम कर दिया। कोर्ट ने फैसला सुना दिया है कि अमिताभ किसान नहीं, अभिनेता हैं। अब तक ये बात किसी को पता नहीं थी, सभी इस पर बहस कर रहे थे कि अमिताभ किसान हैं या नहीं। ये बहस Read more…

By Harsh, ago