दिल्ली की हवा साफ रखने के लिए नेता जूझ रहे हैं, यह आधा क्या चौथाई सच भी नहीं है। सच यह है कि ऐसा करते वे दिखने की जीतोड़ कोशिश में लगे हैं। लेकिन, क्या देश की कोई भी सरकार या कोई भी नेता साफ हवा के हमारे मूलभूत अधिकार को लेकर चिन्तित है या फिर साफ पानी की ही तरह साफ हवा भी बाजार के भरोसे ही हमें मिलने वाली है। और, बेहद खतरनाक होगा यह। अगर एयरप्योरीफायर से हवा साफ करना शुरू हुआ, तो बोतलबन्द पानी जैसा ही हश्र होने वाला है। इसलिए साफ हवा चाहिए, तो सरकार पर दबाव बनाए। #SayNoToAirPurifier


1 Comment

Mahesh Tripathi · November 14, 2017 at 10:08 am

aapne bilkul sahi bat kahi hai, basic needs ko sarkaron ne market ke hawale kar diya hai.. aur ye bahoot hi galat direction me ja rahe hain hum. #SayNoToAirPurifier #SayNoToWaterPurifier

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *