भारतीय राजनीति में आर्थिक नजरिये को हमेशा बड़ी हेय दृष्टि से देखा जाता रहा है। उसी का परिणाम रहा कि देश के 2 सबसे बड़े राज्य देश के सबसे पिछड़े राज्य बने रहे। बावजूद इसके कि ये दोनों राज्य राजनीतिक तौर पर हमेशा अगुवाई करते रहे। शायद अब नई राजनीति से इन दोनों राज्यों के हालात कुछ बदलें। खासकर बिहार के।