2017 के गुजरात विधानसभा चुनावों का सबसे सामान्य विश्लेषण यही है कि इस बार चुनाव हिन्दुत्व पर नहीं हो रहा है। बल्कि, हिन्दू जातियों के बीच हो रहा है। मुसलमान एकदम शान्त है। बस इसी आधार पर ज्यादातर विश्लेषण हो रहे हैं। जाति पर हो रहे इस चुनाव को समझने के लिए थोड़ा और गहराई में जाने की जरूरत है।