बतंगड़ ब्लॉग

एक राज्यसभा सीट के लिए क्यों दॉंव पर लगी है प्रतिष्ठा ?

गुजरात राज्यसभा की तीसरी सीट का चुनाव सिर्फ एक सीट का चुनाव नहीं है। राजनीतिक विश्लेषक हर्षवर्धन त्रिपाठी बता रहे हैं कि अहमद पटेल की राज्यसभा सीट अमित शाह के लिए क्यों इतनी महत्वपूर्ण हो गई है।

By Harsh, ago
बतंगड़ ब्लॉग

राजनीतिक फायदे के लिए भी भ्रष्टाचारियों पर कार्रवाई उचित

कर्नाटक के एक मंत्री के घर और दूसरे ठिकानों पर आईटी के छापे से देश में एक बड़ा सवाल खड़ा हो गया है। वो सवाल ये है कि क्या कांग्रेस मुक्त भारत के सपने को पूरा करने के लिए मोदी-शाह की जोड़ी राजनीतिक विरोधियों के खिलाफ केन्द्रीय एजेन्सियों का इस्तेमाल Read more…

By Harsh, ago
बतंगड़ ब्लॉग

अबू दुजाना के मारे जाने के निहितार्थ

कश्मीर घाटी में सक्रिय एक और कुख्यात आतंकवादी अबू दुजाना को भी जम्मू कश्मीर पुलिस, सेना और अर्धसैनिक बलों ने साझा अभियान में मार गिराया। भारतीय खुफिया एजेन्सियां लगातार शानदार तरीके से आतंकवादियों के बारे में सूचनाएं इकट्ठा कर रही हैं। दुजाना के मारे जाने के और क्या निहितार्थ हैं, Read more…

By Harsh, ago
बतंगड़ ब्लॉग

अमित शाह की सम्पत्ति की खबर मीडिया ने क्यों छिपाई?

भारतीय जनता के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह की सम्पत्ति की खबर मीडिया ने क्यों छिपाई? छिपाई, तो किसने दबाव डाला। दबाव किसी ने डाला भी या फिर कुछ पत्रकार जो सरकार के पलक झपकने से भी इशारा लेते हैं, उन्होंने स्वत:स्फूर्त ये कारनामा कर डाला। दबाव डाला गया, तो जिसने Read more…

By Harsh, ago
बतंगड़ ब्लॉग

मायावती के चेहरे पर भी फूलपुर में संयुक्त विपक्ष के लिए मुश्किल

बिहार में जिस तरह से नीतीश कुमार ने पाला बदला है। उससे राष्ट्रीय स्तर पर विपक्षी एकता की हवा निकल गई है। अब बड़ा सावल ये है कि क्या लालू प्रसाद यादव अब भी उत्तर प्रदेश के लोकसभा उपचुनाव के लिए मायावती, अखिलेश और कांग्रेस को एक साथ लाने की Read more…

By Harsh, ago
बतंगड़ ब्लॉग

इस बार नीतीश के मुख्यमंत्री बनने को नए नजरिये से देखिए

भारतीय राजनीति में आर्थिक नजरिये को हमेशा बड़ी हेय दृष्टि से देखा जाता रहा है। उसी का परिणाम रहा कि देश के 2 सबसे बड़े राज्य देश के सबसे पिछड़े राज्य बने रहे। बावजूद इसके कि ये दोनों राज्य राजनीतिक तौर पर हमेशा अगुवाई करते रहे। शायद अब नई राजनीति Read more…

By Harsh, ago
बतंगड़ ब्लॉग

सरकार बनाने का काम नेताओं का होता है, पत्रकारों को ये बात समझ में आना जरूरी

बिहार विधानसभा चुनाव के दौरान मैं भी पटना और उससे सटे इलाकों में था। बिहार के लगभग हर इलाके के लोगों से बातचीत होती थी। संयोगवश सबसे ज्यादा बातचीत भारतीय जनता पार्टी से जुड़े कार्यकर्ताओं से ही होती थी। पत्रकारों से भी होती थी। सबसे बातचीत में एक ही ध्वनि Read more…

By Harsh, ago
बतंगड़ ब्लॉग

मायावती को इस्तीफा देने की याद क्यों आई ?

बहुजन समाज पार्टी के ट्विटर खाते से ये बात मायावती को लोकसभा चुनाव परिणाम के तुरन्त बाद अच्छे से ध्यान में आना चाहिए था। क्योंकि, उत्तर प्रदेश ने हाथी निशान पर एक भी व्यक्ति को संसद में पहुंचने लायक नहीं माना। चलिए उस समय ध्यान में नहीं आया। उत्तर प्रदेश Read more…

By Harsh, ago
बतंगड़ ब्लॉग

मोदी के पीएम बनने के बाद अडानी के भाव गिरे!

हिन्दुस्तान में हर आदमी एक बात पक्के तौर पर जानता है। वो बात ये है कि अडानी, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दोस्त हैं। इसी आधार पर वो हिन्दुस्तान का हर आदमी ये भी जानता है कि देश के प्रधानमंत्री से दोस्ती का फायदा अडानी की कम्पनियों को जमकर मिलता रहता Read more…

By Harsh, ago
बतंगड़ ब्लॉग

क्रूर मशीनी देश चीन मानवता के लिए खतरा है

चीन मानवता के लिए ख़तरा है। वहाँ के नागरिक मानव नहीं, मशीन हो चुके हैं। किसी भी विचार के लिए वहाँ जगह ही नहीं है। कल प्रभाष प्रसंग में शामिल होने सत्याग्रह मण्डप में था। सामने हरी घास पर पीले कपड़ों में कुछ लोग योग जैसा कुछ कर रहे थे, Read more…

By Harsh, ago