गुवाहाटी में एक लड़की को अपमानित करते ये मर्द!

गुवाहाटी में एक महिला के साथ तथाकथित पुरुषों ने जो किया वो, शर्मनाक है और किसी भी संवेदनशील समाज में स्त्री-पुरुष संबंधों को बदतर करने वाला है। ये खबर जब मैंने प्राइम टाइम में एनडीटीवी इंडिया पर देखा तो, —- “गुस्से में मैं भी था लेकिन, जैसे ही कुछ कहने के लिए मुंह खोला। पत्नी उबल पड़ी इन आदमियों को तो, औरत जैसे भी हो ये यही करेंगे। ”  हर लड़की-औरत को ये गुस्सा आना जरूरी है। पुरुषों को हिकारत मिलनी जरूरी है। ऐसी ही एक घटना जब नए साल पर मुंबई के एक होटल के बाहर घटी थी। तो, मैं मुंबई में ही था। लेकिन, उनके “पौरुषी पुरुषों” के घर की महिलाओं ने तो, कुछ अलग ही दृष्य पेश किया था। यही मानसिकता असल जड़ है। इसी में मट्ठा डालने की जरूरत है।


5 Comments

Rajaneesh Shukla Varanasi · July 13, 2012 at 2:38 pm

हर्षजी, माकूल लताद के लिये धन्यवाद सच है कि इसके लिये जिस कठोर सामाजिक दण्ड की व्यवस्था होनी चाहिये वह नही है। अन्यथा तो समाज को अभी बहुत कुछ भुगतना शेष है।

lokendra singh rajput · July 13, 2012 at 6:43 pm

मर्द नहीं हिजड़े थे सब के सब….. इन्हें तो उसी बाज़ार में गाड़ी से बांध कर घसीटना चाहिए…

प्रवीण पाण्डेय · July 14, 2012 at 9:50 am

दर्दनाक है यह..

आशा जोगळेकर · July 21, 2012 at 3:25 pm

महिलाओं की तरक्की से जलने वाले inferiority complex से ग्रसित हैं ये लोग । इसके खिलाफ मर्द और औरतें दोनों को मिल कर मुहीम चलानी होगी ।

आशा जोगळेकर · July 21, 2012 at 3:28 pm

महिलाओं की तरक्की से जलने वाले inferiority complex से ग्रसित हैं ये लोग । ऐसे आचरण के खिलाफ मर्द और औरतों को मिल कर मुहीम चलानी होगी ।

Comments are closed.