पहले एक भ्रम ये भारतीय जनमानस में भर दिया गया कि कांग्रेस अकेली पार्टी है, जिसने भारत की आजादी की लड़ाई लड़ी। धीरे-धीरे वो भ्रम टूटने लगा, तो उससे भी सशक्त भ्रम तैयार करके भारतीयों को डराने की कोशिश की गई। हालांकि, अब उसी झूठ/भ्रम के जाल में कांग्रेसी कार्यकर्ता फंस गए हैं। राजनीतिक विश्लेषक हर्षवर्धन त्रिपाठी बता रहे हैं कि ये सबसे बड़ी वजह है, जिसकी वजह से पार्टी कार्यकर्ता खड़े नहीं हो पा रहे हैं।