बतंगड़ ब्लॉग

बिन्दी के चक्कर में कम होती हिन्दी की खूबसूरती

हर भाषा खूबसूरत होती है और हर किसी को अपनी भाषा सबसे खूबसूरत लगती है। अपनी मां जैसी। मेरी मां हिन्दी भाषा है। मातृभाषा के तौर पर मैं थोड़ा गहरे उतरूं, तो मातृभाषा हिन्दी नहीं अवधी है। लेकिन, देश की ऐसी कई बोलियों-भाषाओं के साथ हिन्दी ऐसी भाषा बनी, जो Read more…

By Harsh, ago