रोजगार के मौके के लिए तीन सूत्रों को साधना होगा। क्योंकि, खेती में काम करने वाले कम हो रहे हैं और उद्योगों में भी मशीनीकरण की वजह से लगातार रोजगार के मौके घट रहे हैं। सर्विस सेक्टर भी उतने लोगों को रोजगार नहीं दे पा रहा है। इसीलिए जरूरी है कि मैन्युफैक्चरिंग, सर्विस और रूरल इकोनॉमी को एक साथ जोड़ने वाली रोजगार नीति सरकार लेकर आए।