प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को गुजरात में हुई सभा में जो कुछ कहा है, उसका एक-एक शब्द दरअसल चुनावी मुद्दों को अपने हिसाब से तय करने की कोशिश है और उसमें 2 सबसे मारक हैं। पहला कांग्रेस को गुजरातियों का चिर विरोधी साबित करना और दूसरा कांग्रेस उन्हें जेल भेजने की साजिश कर रही थी।